Raj Thackeray News

honestnewspaper.com
5 Min Read
Raj Thackeray News

क्या Raj Thackeray पार्टी बीजेपी के साथ महायुती जाना  चाहती है ?

Raj Thackeray हर जगह लोकसभा 2024  चुनाव से पहले सब पार्टी अपना स्थान पक्का करने में लगी है. इससे मैं महाराष्ट्र की सियासत में फिर से उलट फेर फिर होने जा रहा है. जैसे की कुछ महीने पहले शरद पवार की पार्टी राष्ट्रवादी के  महाराष्ट्र  विधान परिषद के विरोधी पक्ष नेता अजीत पवार ने अपने पार्टी से अलग होकर . खुद राष्ट्रवादी के अलग पार्टी निर्माण की जिसमें वह बीजेपी और शिवसेना के साथ महायुती की पार्टी मै स्थापित हुवे .

फिलहाल वह महाराष्ट्र सरकार मै उपमुख्यमंत्री इस पद पर बैठे हैं. आज जहां देखो सब लोग अपनी पार्टी को मजबूत करने में लगे हैं ऐसे में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेवा के अध्यक्ष राज ठाकरे दिल्ली में देश की गृहमंत्री अमित शाह के साथ लोकसभा चुनाव 2024 कुछ मुद्दे  लेकर  मिलने पहुंचे. इसके बाद हर जगह उनके चर्चे हो रहे हैं राज ठाकरे की भी पार्टी महायुती के साथ गठबंधन में आने के लिए तैयार है. 

अब ये बात पक्की हो गई है की उनकी पार्टी भी महाराष्ट्र सरकार मै महायुति के साथ जाने के लिए तयार है .लेकिन सूत्रों का मानना यह है कि राज ठाकरे इन्होंने अपने लिए अमित शाह जी से लोकसभा चुनाव में कुछ सीटों के लिए अपनी दावेदारी बनाई है.जैसे दक्षिण मुंबई और शिरडी इन दो जगह पर अपने उम्मीदवार उतरने को अमित शाह जी से बात किया

जल्दी ही महायुती के साथ जुड़ने वाली हैं चौथे पार्टी

जल्दी ही भाजपा के अगुवाई वाले महायुती महाराष्ट्र सरकार  मै Raj Thackeray की पार्टी (मनसे) उनकी एंट्री होने वाली है. लोकसभा चुनाव के  देखते हुए. इसमें बीजेपी उद्धव ठाकरे फैक्टर नाम मुंबई मै को कमजोर करना. और महाविकास अघाड़ी को महाराष्ट्र में उनकी का पार्टी को कमजोर करना .

लेकिन महाराष्ट्र मै  Raj Thackeray को पिछले चुनाव में कम वोट मिले जिसमें उनका विधानसभा चुनाव में उन्होंने 101 सीटों पर अपनी उम्मीदवार उतारे थे मैं प्रत्यक्ष ठाणे को छोड़कर उनका एक भी उम्मीदवार विजय नहीं हुआ उसमें 86 उम्मीदवारों का जमानत भी जप्त हो गई थी फिर भी बीजेपी राज ठाकरे को लेकर  किस जगह पर उनको उम्मीदवार देने वाली है यह देखने की बात होगी.

मनसे पार्टी की स्थापना कब हुई थी

पहले Raj Thackeray यह बालासाहेब ठाकरे की पार्टी शिवसेना इनमें एक पदाधिकारी रूप में काम करते थे लेकिन कुछ मतभेद के होने के कारण उन्होंने अपनी अलग पार्टी बनाने का विचार बनाया. इसके बाद 2006 में राज ठाकरे ने अपनी खुद की नहीं पार्टी महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ( मनसे) इस पार्टी की स्थापना की.

किसके बाद 2009 में उन्होंने विधानसभा चुनाव में अपने 13 सीटों पर  उनके उम्मीदवारों को अच्छी खासी जीत हासिल की थी और बीएमसी चुनाव में भी हमको अच्छे से वॉटर मिले थे लेकिन 2019 के विधानसभा चुनाव में उनका कोई ज्यादा वोट नहीं मिले उन्होंने 101 सीट पर उम्मीदवार उठा रहे थे लेकिन उसमें से सिर्फ एक ही जीत मिली थी इसमें 86 उम्मीदवारों के डिपॉजिट भी जप्त हो गए थे.

Raj Thackeray उत्तर भारतीयों पर निशाना बनाने के कारण सुर्खियों में रहते हैं. पिछले साली हिंदी भाषा को लेकर उनके ऊपर एक मुकदमा दर्ज किया गया था जो कि झारखंड के जमशेदपुर में यह मामला दर्ज हुआ था बाद में उन्होंने कोर्ट में गवाही देते हुए माफी मांगी जिसके बाद यह मामला खत्म हुआ.

लेकिन आप बीजेपी में राज ठाकरे की पार्टी महाराष्ट्र में महायुती के साथ एलाइंस करने वाली है. इसका फायदा बीजेपी को मिलने वाला है कि यह देखने की बात होगी. क्योंकि Raj Thackeray हिंदी भाषा को लेकर  बयान है  महाराष्ट्र को उत्तर भारतीय ना होने देने यह वाक्य चलते बीजेपी के उत्तर भारतीय संगठन इससे काफी नाराज है

शिंदे घट वाली शिव सेना को कैसे संभालेंगे बीजेपी की पार्टी

अगर Raj Thackeray को  महाराष्ट्र कि महायुती पार्टी में शामिल करके बीजेपी सहयोगी पार्टी को कैसे संभाल पाएंगे क्योंकि चर्चा में यह आ रहा है कि राज ठाकरे पार्टी को लोकसभा चुनाव के लिए दो के लिए आग्रीह है और  बीजेपी तैयार हो गई है

जिसमें मुंबई दक्षिण और शिरडी इस के लिए लेकिन इस पर पहले से शिंदे घट वाली शिवसेना क्यों उम्मीदवार 2019 में इस मतदार से जीत हासिल किए थे.अब इस पर बीजेपी महायुती  शामिल  शिंदे घट वाली शिवसेना के साथ कैसे ओ तालमेल बैठेंगे इसको लेकर काफी चर्चा बनी हुई है





Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *